अपनी बुआ की चूत फाड़ी

Antarvasna Hindi sex stories Kamukta हाई एवरीवन, आई एम् दया और मैं उम्मीद करता हु, कि आप सब की लाइफ अच्छी चल रही होगी. मैं यहाँ पर सेक्स कहानी का रेगुलर रीडर हु और ये मेरी पहली स्टोरी है. प्लीज अगर कोई गलती हो जाए, तो मुझे माफ़ कर देना. ये स्टोरी मेरे और मेरी बुआ के बीच में हुए सेक्स एनकाउंटर की है. ये घटना तब हुई, जब मैं गर्मियों की छुट्टियों में मेरी बुआ के के पास रहने गया था. मेरी बुआ के बारे में बता दू.. उनका फिगर ३६ – ३२ – ३६ है और शी केन टर्न ओन एनी ब्लडी मेन. उनके घर में वो, उनके पति और उनका एक बेटा है. उनका बेटा अभी आठवी क्लास में है. उनके हसबैंड शोपकिपर है, तो रात को लेट घर पर आते है. मैं उनके घर पर जब पंहुचा, तो बुआ ने मुझे गले से लगा लिया. वो मुझे बहुत प्यार करती है. उनके पॉइंटेड बूब्स मेरी चेस्ट में चुभ रहे थे. मुझे वो बहुत अच्छा लग रहा था. मैंने फिर थोड़ी देर रेस्ट किया और लच के लिए आ गया. तो देखा, कि बुआ ने एक बहुत टाइट साड़ी पहनी हुई थी और वो नेवल से थोड़ा नीचे बाँधी हुई थी.

तो मुझे बुआ की ऐस क्रेक्क थोड़ी सी दिख रही थी. जोकि बहुत सेक्सी लग रही थी. मैंने बुआ से कहा – आप तो बड़ी सुंदर लग रही हो. वो मुझे एक स्माइल देकर किचन में चली गयी और मैं खाना खा कर सोने चला गया. शाम को जब उठा, तो मुझे बुआ कहीं नहीं दिख रही थी. फिर मैं जब बाथरूम की तरफ गया, तो मुझे कुछ आवाज़े आई. मैंने होल से देखा, तो बुआ पूरी नेकेड थी और खुद ही फिन्गेरिंग कर रही थी. मेरा लंड एकदम से तन्न गया और मैंने वहीँ खड़े – खड़े मुठ भी मार दिया. फिर मैं वहां से चले गया और थोड़ी देर बाद, जब बुआ रेडी होकर वहां नीचे आयी. तो बहुत सुंदर लग रही थी और उन्होंने एक नाईटी पहनी हुई थी. फिर सब घर आ गये और डिनर करके हम सब सो गये. मैंने पूरी रात सिर्फ यही सोचता रहा, कि बुआ को कैसे चोदु.

फिर सुबह जब मैं उठा, तो देखा कि बुआ घर पर अकेले ही थी. सनी और अंकल दोनों ही चले गये थे. मैं नीचे जाकर बुआ के पास बैठ गया और हम दोनों बातें कर रहे थे. तो उन्होंने बोला, कि तेरी कोई गर्लफ्रेंड है? मैंने बोला – थी. अब ब्रेकअप हो गया है. उन्होंने पूछा – क्यों? मैंने बोला – वो रहने दो. तो उन्होंने कहा – ठीक है. मैंने उन्हें कल के बारे में पूछा, तो वो बहुत बुरी तरह से डर गयी. वो बोली – तू किसी को कुछ मत बोलना. मैंने बोला – ठीक है. पर एक शर्त है. उन्होंने बोला – ठीक है. जो भी तू बोले. मैंने फिर एक स्माइल दी और बोला – मुझे अपने नेकेड बूब्स दिखाओ और मुझे उन्हें दबाना है. वो बोली – नहीं. तो मैंने नाटक में गुस्सा होते हुए बोला, ठीक है. मैं अंकल को बता देता हु. फिर मैं वहां से जाने लगा. उन्होंने मुझे हाथ पकड़ कर खीचा और बोली यहाँ बैठ और धीरे – धीरे अपना ब्लाउज खोलने लगी. मैंने बोला – मैं मद्दत करता हु और मैंने उनकी ब्लाउज और ब्रा दोनों ही उतार दिए.

अब मैंने उनके बूब्स को इतने पास से देखा, तो वो चमक रहे थे. फिर क्या था.. मैं उनपर टूट पड़ा और जोर – जोर से उन्हें दबाने लगा. बुआ भी बस अहहाह अहः आह्ह हम्म्म्म उम्म्म्म की आवाज़े निकाल रही थी. फिर उन्होंने मुझे बालो से पकड़ कर खीचा और किस करने लगी. मैं भी उनको किस कर रहा था १५ मिनट तक. थोड़ी देर किस करने के बाद, उन्होंने मुझे बोला, चल बेडरूम में चल और वहां जाकर मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिए. वो बोली – ये क्या. तेरा लंड तो तेरे अंकल के लंड से बहुत बड़ा है. मैं बोला – अब दूर से ही देखोगी? या मुह में भी लोगी. वो हसने लगी और नीचे बैठ कर मेरे लंड को चूसने लगी. करीब १० मिनट के बाद, मैं उनके मुह में ही झड़ गया. अब मैंने उनका पेटीकोट निकाला और देखा कि उन्होंने रेड कलर की पेंटी पहनी थी और वो पूरी तरह से गीली थी. मैंने एक ही झटके में उनकी पूरी पेंटी फाड़ दी और उनकी चूत को देखा. उनकी चूत पर थोड़े से बाल थे.. बहुत ही सेक्सी लग रही थी. मैं उनकी चूत को चूसता रहा और वो जोर – जोर से अहहहा अहहाह ऊऊह्ह्ह हाहाहा ऊउईईईइ माँ कर रही थी. मुझे और जोश चड़ा और मैंने अपनी दो उंगलिया उनकी चूत में डाल दी. उनकी चूत बहुत ज्यादा टाइट थी.

मैंने पूछा, कि अंकल आप को नहीं चोदते क्या? वो बोली – बिलकुल भी नहीं चोदते है. और अगर चोदते है भी, तो बहुत जल्दी झड जाते है. मैंने बोला – अब मैं आ गया हुआ ना.. तो आप को खुश कर दूंगा. वो बोली – हाँ मेरे राजा.. अब अपना लंड मेरी चूत में डाल कर मेरी चूत को फाड़ दे आज. मैं अपने लंड को उनकी चूत पर रगड़ने लगा. वो तड़प रही थी. वो विनती करने लगी, कि प्लीज फक मी नाउ.. मैंने फिर लंड उनकी चूत पर रखा और एक जोरदार धक्का मारा. मेरे लंड का टोपा अन्दर चले गया और वो तड़प उठी और गालिया देने लगी.. साले बहन के लौड़े… आराम से डाल.. मारेगा क्या मुझे? मुझे और भी जोश चढ़ा और मैंने एक और धक्का लगाया और मेरा आधा लंड बुआ की चूत के अन्दर गुस गया. बुआ ने जोर से अपने होठो के बीच में मेरे होठो को दबा लिया और चिल्लाने लगी. मैंने अब अपने लंड को आगे – पीछे करना शुरू कर दिया और फिर आखिरी धक्के में मेरा पूरा लंड उसकी चूत के अन्दर घुस चूका था. वो चिल्ला पड़ी आआआआआआआअ हाआआआआआआआअययययययययी मर गयी… ये क्या किया तूने?

मैं फिर उन्हें चोदता रहा और अब वो भी मेरा साथ दे रही थी. अपनी गांड को हिला रही थी. फिर मैंने बुआ को उठाया और बेड पर ले गया और उन्होंने थोड़ी देर चूसा और फिर मेरे ऊपर आ गयी. वो मेरे लंड के ऊपर बैठ गयी थी और ऊपर – नीचे हो रही थी. मैं भी उनका साथ दे रहा था. हमने २० मिनट और सेक्स किया और मैं उनकी चूत के अन्दर ही झड़ गया. वो बोल रही थी… वाह मेरे राजा, आज तुमने मुझे खुश कर दिया. उन्होंने बोला – आज से मैं सिर्फ तुम्हारी ही हु. फिर हम दोनों ने कपड़े पहने और नीचे आ गये. शाम हो गयी थी और अंकल भी आ गये थे. फिर ऐसा हम रोज़ दोपहर को करते और सेक्स एन्जॉय करते. जब तक मैं वहां बुआ के पास रहा, हमने रोजाना सेक्स किया. आशा करता हु, कि आपको मेरी कहानी पसंद आई होगी.. प्लीज मुझे अपने कमेंट से जरुर बताना.