कमीने पडोसी ने मेरी दीदी की गांड

मेरा नाम राहुल है. मैं १८ साल antarvasna का सिंपल सा दिखने kamukta वाला लड़का हूं. और मैं पंजाब में रहता हूं. हमारी फैमिली में, मेरी दीदी रितिका और मोम डेड है. मेरे डैड गवर्नमेंट ऑफिशियल है और मम्मी भी. पर ज्यादातर मेरी दीदी और मैं ही होते हैं. तो कुछ मेरी दीदी के बारे में बताता हूं. एक्चुअली वह मेरे से ७ साल बड़ी है और चॉकलेटी कलर की ब्यूटीफुल सी लड़की है, उनके बूब्स और गांड बहुत टाइट है. उनके बूब्स बड़े हैं और गांड थोड़ी सी बाहर की शेप में आई है.

उनका बोलने का तरीका काफी फ्रेंडली है, काफी लड़के उनको उठाकर अपने लंड पर बैठाना चाहते हैं. मेरी दीदी की गांड देखकर मेरा भी खड़ा हो जाता है. रात को जब वो शोर्ट डालकर मेरे साथ सोती है तो मैं उनके सोने के बाद चुपचाप उनकी गांड पर हाथ रख देता या उनका हाथ अपने लंड पर रख देता या उनकी चूत को चूम लेता. अब कहनी शुरू करता हूं, यह बात के सात महीने पहले की है जब मेरे मॉम डैड ने घर शिफ्ट कीया था और एक ऐसी लोकैलिटी में लिया जहां पर गुंडे बहुत थे

उपर से मेरी बहन की ड्रेसिंग सेंस बहुत छोटे कपड़े डालने वालों में से थी. उनके कपड़े देख पर किसी का भी खड़ा हो जाए, उन लड़कों की रिप्युटेशन लड़कियों में बहुत बुरी थी, उन्होंने काफी लड़कियों की बहुत बार चुदाई की थी. उनके बारे में हम बिल्कुल नहीं जानते थे और मैंने उन से फ्रेंडशिप कर ली मेरी बहन जब मिनी स्कर्ट या जांघ तक आने वाली निक्कर डालकर गली में मेरे साथ बैडमिंटन खेलने आती, तो सबकी नजर उनकी गांड पर रहती या उनके बूब्स पर. पूरे मोहल्ले के सारे लड़के उनकी चुदाई करना चाहते थे उनकी चूत को सहलाना चाहते थे.उसके साथ सोना चाहते थे, उनकी प्यारी सी परफेक्ट गांड के साथ खेलना चाहते थे, और मैं भी उनके हुस्न का दीवाना था और उनकी गांड मारना चाहता था. वह लड़के मेरे दोस्त थे, उनके ग्रुप का लीडर प्रीत था, वह दिखने में ठीक ठाक था और वो तगडा था, उसकी नजर मेरी बहन पर ज्यादा रहती थी और वह मौके के इंतजार पर रहता था. प्रीत मेरे घर पर आ जाता था मेरे और मेरी दीदी से उसकी अच्छी फ्रेंडशिप हो गई और वह हमारे साथ बैडमिंटन भी खेल लेता था और तो और मेरी सिस्टर ने अपने आप ही उसे अपना मोबाइल नंबर भी दे दिया था.

मुझे कीसी ने बताया कि प्रीत के साथ दोस्ती कम रखो, वह अच्छा लड़का नहीं है. क्योंकि उसने काफी खूबसूरत लड़कियों को फसाया है, और उनकी १ घंटे तक चुदाई की. यह सुनते ही मैं हैरान हो गया और दीदी के पास गया और बोला की दीदी प्रीत बुरा लड़का है और वह हमारे लायक नहीं है, दीदी कहती ठीक है, मैं उसे नहीं बुलाऊंगी तुम भी मत बुलाना. मैंने कहा ठीक है मेरी दीदी पर उसे थोड़ा थोड़ा बुलाती थी पर कभी कभी तो मेरी दीदी और वह गली में बैडमिंटन तक खेलते हुए नजर आते थे.

बहन की रिप्युटेशन भी इनके साथ रहने से बुरी हो गई थी, कुछ लड़के मेरी दीदी की चुपके चुपके गांड की फोटो खींच लेते थे.

प्रीत मेरी दीदी के साथ काफी फ्रैंक हो चुका था और एक हफ्ते बाद मुझे मेरी दीदी का फोन हाथ लगा और उसमें कांटेक्ट लिस्ट में प्रीत का नाम सबसे ऊपर और फिर मैसेज में मैंने देखा कि मेरी दीदी ने उसे प्रपोज मारा और उसने भी हां कर दिया. फ्रेंडशिप कब रिलेशनशिप में बदल गई थी पता ही नहीं लगा. फिर उसके अगले दिन मोम डेड को किसी काम से दिल्ली जाना पड़ा और मैं मेरी दीदी घर पर थे, मेरी दीदी ने बहाने से मुझे बाहर भेजने की कोशिश की और बोली की एक नई मूवी लगी है जा कर देख आ. मैं फिर चुपचाप घर से पैसे लेकर बाहर निकल गया और पीछे वाले दरवाजे से अंदर आकर ऊपर वाले रुम के लोकर में छुप गया.

करीब २० मिनट बाद मैंने देखा मेरी दीदी और प्रीत की फोन पर बात हो रही थी, दीदी ने उसे कहा वह नहीं मूवी की डीवीडी आई है, आ जाओ देखते हैं.

वो ५ मिनट के अंदर अंदर वहां पर आ गया और उसने ऊपर आकर रुम लोक कर लिया. मैंने लोकर थोड़ा सा खोला हुआ था और मैंने देखा कि वह दीदी के साथ बैठा है और मेरी दीदी ने शोर्ट डाली है और एक पतली सी टी-शर्ट डाली है. फिल्म के बहाने उसने मेरी बहन की जांघ की पर हाथ रखा और उन्हें गरम किया. मेरी बहन ने अपनी आंखें बंद की और आवाज निकालने लगी और उस दिन मुझे यकीन हुआ कि जो कि मैंने उन लड़कों के बारे में सुना था वह सब सच था. मेरी बहन ने अपनी टी शर्ट उतार ली, सिर्फ ब्रा ही डाले रखी, प्रीत ने मेरी बहन की ब्रा को खोल दिया और बूब्स चाटने लगा.

मेरी बहन ने प्रीत की जिप खोली और मैं हैरान हो गया, उसका ९.५ इंच का लंड निकाल दिया. मेरी बहन ने लौड़े को अपने हाथ में पकड़ा और हिलाने लगी, प्रीत ने मेरी बहन की नीकर और कच्छी उतार दी और आपने भी सारे कपड़े उतार लिए. फिर उसने मेरी बहन को स्मूच किया और मेरी बहन ने उसके लंड को अपने मुंह में डाल दिया और चूसने लगी. प्रीत की आवाज आई आह्ह औऊ यस य्य्स ई ओऊ हह इई अहह स्सुस ह्ह्श्स. फिर दीदी ने उसके टट्टे अपने मुंह में ले कर चाटने लगी.

फिर प्रीत ने मेरी दीदी को बेड पर लिटाया और और घोड़ा करके उनकी गांड और चूत की फोटो खींची, फिर उसने दीदी की चूत को चूमा और चाटने लगा, उसने दीदी में अपनी उंगली डाली. फिर दो उंगली डाली दीदी चीख रही थी अहह उऔ उय ये य्स्यत्स्त उऔउ यस यस्यस प्रीत बेड पर लेट गया और अपने बड़े लंड पर दीदी को बिठा लिया. पहले आराम से धक्के मारने लगा, फिर बहुत तेज हुआ और मेरी दीदी तो जैसे रो ही पड़ी. उनकी चीख में क्या दम था अहह आयी औऊ इस उय्य तस ततस ओह्ह उऔ ओह्ह हहह अम्म उऔ हां और मारो और मारो. जब उसने दीदी की चूत से निकाला तब दीदी की चूत एकदम लाल थी, फिर उसने चूत से लंड निकाल के दीदी की गांड में डाल दिया, और दीदी की गांड मारने लगा. दीदी की गांड एकदम कमाल की लग रही थी और लाल थी.

फिर उसने दीदी की टाँगे उठा ली और अपने कंधो पर रख ली, और फिर गांड बजाने लगा, दीदी की दुख रही थी ऐसा लग रहा था उसने मेरी बहन की चूत का भोसड़ा एक मिनट में ही कर दिया, दीदी जोर जोर से चिल्ला रही थी.

बीएस अहह अहह उऔउ अक्क हहह औउ हां बस, मैं खुद हैरान था कि कोई इतनी बुरी तरह कैसे चोद सकता है? पर मेरी बहन एकदम माल लग रही थी कमाल लग रही थी. उन्होंने अपनी टांगे खोली हुई थी और लंड लिया हुआ था. प्रीत मेरी बहन को घोड़ी बना लिया और उनकी प्यारी सी चूत में अपना राक्षस जैसा लंड डाल दिया और बजाने लगा जोर जोर से.. मेरी बहन तो जैसे बेहोश ही हो जाए अभी उसने अपना लौड़ा निकाल लिया मेरी बहन को सीधा लिटा लिया और अपना माल मेरी बहन की चूत में पर मुंह पर डाल दिया और उनकी तस्वीर ले ली. आज भी वो तस्वीर बहुत वायरल है और मेरी यादें अभी भी ताजा है.. में वह तस्वीर देख के मुठ मार लेता हु और उस लड़के प्रीत ने मेरी बहन की नंगी तस्वीर अपने दोस्तों में बाँट दी, काफी लड़के मुझे देख कर हँसने लगते हे पर में ध्यान नहीं देता, और आज तक मेरी बहन प्रीत से और उसके दोस्तों से ८ या १० बार चूदी हुई हे.