पिंक चुत की जबरजस्त चुदाई

दोस्तो, मेरी Antarvasna Kamukta में है। मेरा नाम लकी है और मैं मध्यप्रदेश में रहता हूँ।मैं दिखने में गोरा हूँ और जिम जाने के कारण मेरा शरीर भी अच्छा है। मेरी लम्बाई 5 फुट 6 इंच है.. मेरा लंड भी औसत से बहुत लम्बा है।

मैंने इस साईट पर प्रकाशित सारी कहानियां पढ़ी हैं। इसलिए आज मैंने सोचा कि मैं भी अपनी कहानी लिखूँ।

ये बात एक माह पहले की है। मेरी एक गर्लफ्रेंड थी.. जिसका नाम था रानी और उसकी एक फ्रेंड थी.. जिसका नाम रिया था।

मैं एक दिन रानी से बात कर रहा था तो उसने कहा- मेरी फ्रेंड से बात करोगे?
मैंने कहा- क्या बात करनी है?
रानी- लड़कियों से क्या बात करना चाहिए.. कुछ भी कर लो।
मैं- ओके।
उसने फोन लगाया.. तो रिया बोली- हैलो आप कैसे हो?
मैं- ठीक हूँ आप कैसी हो?
रिया- मैं भी ठीक हूँ।

मैंने उससे और भी बहुत सी बातें की और इस तरह रिया मेरी फ्रेंड बन गई।

अब मेरी उससे काफी बातें होने लगीं। लेकिन मैं उसके बारे में कभी कुछ गलत नहीं सोचता था।

कुछ दिन बाद उसका कॉल आया।

उसने कहा- आपको किसी से फ्रेंडशिप करनी है?
मैंने कहा- मुझे तो नहीं करनी है.. लेकिन मेरे दोस्तों में से कोई न कोई जरूर कर लेगा।

उसने मना करके फ़ोन काट दिया।

अगले दिन उसका कॉल फिर आया और उसने जो कहा वो मैं सुन कर दंग रह गया।

रिया ने कहा- मैं आपसे पक्की वाली दोस्ती करना चाहती हूँ।
मैं- मैं तो आपका दोस्त ही हूँ।
रिया- ये वाली दोस्ती नहीं.. ‘वो’ वाली दोस्ती।
मैं- ‘वो’ वाली कैसी दोस्ती?
रिया- आप ‘वो’ वाली दोस्ती नहीं समझते हो?
मैं- मतलब सीधे-सीधे बताओ न।
रिया- मैं आपसे प्यार करती हूँ.. क्या आप मेरे बॉयफ्रेंड बनोगे?
मैं- तुम्हें पता है.. मैं रानी का बॉयफ्रेंड हूँ.. तो मैं तुम्हारा बॉयफ्रेंड कैसे बन सकता हूँ।
रिया- मुझे नहीं पता.. मैं आपसे बहुत प्यार करती हूँ।
मैं- तुम्हें मुझमें ऐसा क्या दिखा.. जिससे तुम्हें मुझसे प्यार हो गया?
रिया- आप बहुत स्मार्ट हो और आपकी आवाज बहुत अच्छी है।

मुझे इन सब बातों पर विश्वास नहीं हो रहा था।

क्योंकि रिया बहुत सुन्दर लड़की है और उसका 32-28-34 का फिगर भी बहुत कमाल का था।

कुछ देर सोचने के बाद मैंने भी उसे ‘आई लव यू टू..’ कह दिया और हमारी दोस्ती प्यार में बदल गई।

एक दिन मैंने उससे मिलने को कहा तो उसने ‘हाँ’ कह दिया। स्कूल में दोपहर दो बजे छुट्टी होती है, मैंने उसे छुट्टी के बाद रुकने को कहा।
गर्मियाँ थी तो कुछ हू देर में पूरा स्कूल खाली हो गया और मैं उसे बिल्डिंग के पीछे ले गया, वहां किसी के आने की कोई सम्भावना नहीं थी। सब जगह धूप फ़ैली थी, एक नीम के पेड़ के नीचे कुछ छाया थी हम वहाँ चले गए और मैं उसे किस करने लगा।

हमारी ये किस करीब 5 मिनट तक चली। उसके बाद मैंने एक हाथ उसके टॉप में डाल दिया और उसके उरोजों को दबाने लगा। फिर मैं किस करते हुए देर तक उसके उरोजों को दबाता रहा। अब वो गर्म हो गई थी और उसके मुँह से ‘आह.. ऊहह..’ जैसी आवाजें निकल रही थीं।

फिर मैंने एक ही झटके में उसकी टॉप निकाल दी। अब वो मेरे सामने सिर्फ ब्लैक ब्रा और स्कर्ट में थी। उसका संगमरमर के समान शरीर मेरी आँखों के सामने था।

कुछ पल बाद मैंने उसकी ब्रा को भी निकाल कर फेंक दिया और उसकी चूचियों को दबाने लगा। साथ ही मैंने उसकी स्कर्ट उठा कर उसकी पैंटी को भी निकाल दिया। उसकी चूत एकदम गोरी और थोड़ी गुलाबी थी। उसकी चूत पर एक भी बाल नहीं था। मैं अपनी एक उंगली उसकी चूत में डाल कर उसकी चूत को सहलाने लगा। उसकी चूत एकदम गीली हो गई थी।

रिया बिल्कुल जन्नत से आई हुई परी लग रही थी। मैं बैठ कर उसकी चूत को चाटने लगा। रिया अपने दोनों हाथों से मेरे सर को पकड़ कर अपनी चूत में दबाने लगी।
कुछ टाइम बाद उसका शरीर ऐंठने लगा और उसने अपना सारा पानी मेरे मुँह पर गिरा दिया।

अब मैंने अपना लंड उसके हाथ में दे दिया। रिया मेरे लंड को अपने मुलायम से हाथों से सहला रही थी। मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे मैं जन्नत में हूँ।

कुछ देर सहलाने के बाद वो मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसने लगी और उसके कुछ देर चूसने से मैं उसके मुँह में झड़ गया। वो मेरा सारा वीर्य पी गई और उसने मेरे लंड को चाट-चाट कर साफ कर दिया।

मैंने उसे नीचे लेटाया.. उसकी दोनों टाँगों को फैलाकर उसकी चूत पर अपने खड़े लंड को रगड़ने लगा। कुछ देर लंड रगड़ने के बाद रिया बोली- अब मत तड़पाओ.. मेरी चूत में अपना लंड डाल दो और बुझा दो मेरी प्यास।

उसके ऐसा कहने से मैं और जोश में आ गया और मेरा लंड भी दोबारा खड़ा हो गया था, अपने लंड को रिया की चूत के छेद पर रख कर एक धक्का लगा दिया तो लंड रिया की चूत में आधा लंड घुस गया। रिया के मुँह से चीख निकली और मैंने उसकी इस चीख को अपने मुँह से दबाते हुए बंद कर दिया।

मैं उसे किस करने लगा। कुछ देर रूकने के बाद मैंने दूसरा धक्का दिया और मेरा लंड रिया की चूत में पूरा घुस गया।
वो कह रही थी- निकालो अपना लंड.. मुझे दर्द हो रहा है।

लेकिन मैंने लंड नहीं निकाला और उसे किस करने लगा, उसकी चूचियों को दबाने लगा।
कुछ देर रूकने के बाद रिया नार्मल हो गई।

मैंने अब चुदाई चालू की और काफी देर तक हमारी यह चुदाई चली।

मैंने उसे उसके बाद अलग अलग जगह पर कई बार चोदा।

कुछ टाइम बाद रानी को मेरी और रिया की चुदाई का पता चल गया और मेरा उससे ब्रेकअप हो गया।
रिया भी बाहर स्टडी के लिए चली गई