साले की बीवी की चूत का भोसड़ा

हैल्लो दोस्तों, मेरा Antarvasna नाम राहुल है और में 30 साल का नौजवान युवक हूँ। मेरी शादी आज से 2 साल पहले हुई थी। अब सुहागरात को मेरा 9 इंच का लंड देखकर मेरी बीवी बहुत डर गयी थी और जब मैंने उसे चोदना शुरू किया, तो वो बुरी तरह से चिल्लाने लगी थी। उसे इतना दर्द हो रहा था कि उसने मेरा लंड और अंदर लेने से साफ मना कर दिया था। फिर मैंने मजबूरन अपना लंड उसकी चूत से बाहर निकाल लिया। अब मेरे लंड का सिर्फ टोपा ही अंदर जा सका था, लेकिन उसको बहुत दर्द होने लगा था। खैर इस तरह पूरा एक हफ्ता गुज़र गया, लेकिन में उसे पूरी तरह से नहीं चोद सका। मुझमें सेक्स बहुत ज्यादा था, लेकिन में पूरी तरह से संतुष्ट नहीं हो सका था।

फिर उसने यह बात अपने मायके में अपनी बहन और भाभी को बताई कि में अभी तक अपने पति से चुदाई नहीं करवा सकी हूँ, क्योंकि उनका लंड बहुत बड़ा और मोटा है तो मुझे बहुत दर्द होता है, अब में क्या करूँ? तो उसकी बहन और भाभी ने समझाया कि जवान और हैंडसम आदमी का लंड तो होता ही ऐसा है, तू तो भाग्यशाली है जो तुझे इतना बड़ा लंड मिला है, किसी भी तरह से उसका पूरा लंड अपनी चूत में ले लो, बड़ा मज़ा आएगा, लेकिन मेरी बीवी फिर भी बहुत डर रही थी। अब यह सब सुनकर उसके भाई की बीवी यानि उसकी भाभी को बहुत मज़ा आ रहा था और वो कुछ सोच में पड़ गयी थी (यह बात मुझे उसकी भाभी ने उस वक्त बताई जब मैंने उसको चोदना शुरू किया था) और वो कोई प्लान बनाकर मुझसे मिलना चाहती थी। अब में सेक्स पूरा ना होने के कारण उदास उदास रहता था।

फिर एक दिन जब हम दोनों उसके भाई के घर दावत में गये हुए थे, तो तब भाभी ने मुझे अकेले में कहा कि वो मुझसे कुछ बात करना चाहती है, तो मैंने अपना फोन नंबर उनको दे दिया। फिर एक दिन भाभी ने मुझे कॉल किया और कहा कि क्या हाल है? तो मैंने कि कहा बहुत बुरा है। फिर भाभी कहने लगी कि मुझे सब पता है कि तुम अभी तक अपना सेक्स पूरा नहीं कर सके हो। फिर मैंने जवाब दिया कि हाँ भाभी मुझे बहुत तकलीफ हो रही है, में अभी तक संतुष्ट नहीं हो सका हूँ। फिर इस पर भाभी (जिनका नाम रोजी है) ने कहा कि तुम चिंता मत करो में कोई बंदोबस्त करती हूँ कि तुम्हारा सेक्स पूरा हो सके। फिर मैंने पूछा कि कैसे? तो रोजी ने कहा कि में कोई बंदोबस्त करके दुबारा से तुमको फोन करुँगी और हम कहीं मिलकर इस बारे में बात करेंगे, तो मैंने कहा कि ठीक है में इंतजार करूँगा। फिर 3-4 दिन के बाद मुझे रोजी का फोन आया और उसने कहा कि में कल अपनी माँ के घर जाउंगी, वो लोग कुछ दिनों के लिए कहीं जा रहे है तो घर में सिर्फ में ही होगी, तो तुम कल शाम को 5 बजे आ जाना, तो में खुश हो गया और कहा कि में वक्त पर पहुँच जाऊंगा। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर दूसरे दिन में ठीक वक्त पर रोजी की माँ के घर चला गया, वो घर में अकेली थी। फिर उसने मेरा स्वागत किया और घर के अंदर ले गयी, रोजी मेरी बीवी की उम्र की ही थी, लेकिन वो मेरी बीवी से ज्यादा खूबसूरत और सेक्सी थी। फिर में और वो अंदर जाकर बेड पर बैठ गये, तो उसने मुझसे कुछ जलपान का पूछा, तो मैंने कहा कि अभी नहीं बाद में देखेंगे। फिर वो मेरे साथ बैठ गयी और पूछा कि क्या बात है? तुम अपनी बीवी से सॅटिस्फाइड क्यों नहीं होते हो? तो मैंने कहा कि आपको तो पता है ना वो अभी तक मेरे साथ सेक्स नहीं कर सकी है, मेरा साईज़ बड़ा है और मोटा भी है, तो उसे बहुत दर्द होता था इसलिए आज तक उसने मुझे संतुष्ट नहीं किया है। फिर इस पर रोजी ने कहा कि क्या कोई और तुमको सॅटिस्फाइड करना चाहती हो तो क्या तुम मान जाओगे? तो मैंने कहा कि कोई से आपका क्या मतलब है? तो उसने कहा कि चलो ऐसा समझ लो अगर में तुमको संतुष्ट कर दूँ तो? फिर में यह सुनकर आश्चर्य में पड़ गया।

फिर वो मुस्कुराते हुए बोली कि में तुम्हारा वो देखना चाहती हूँ जिसे तुम्हारी बीवी अभी तक नहीं ले सकी है, क्योंकि मेरी पति का बहुत छोटा है और मैंने खुद भी अभी तक सेक्स अच्छी तरह से मज़ा नहीं लिया है, क्या तुम अपनी और मेरी सेक्स समस्या का समाधान नहीं करना चाहोगे? तो मैंने कहा कि अगर तुम चाहती हो कि हम दोनों की यह समस्या समाप्त हो जाए तो मुझे कोई परेशानी नहीं है। फिर वो खुश हो गयी और मेरा एक हाथ पकड़कर उसने अपने एक बूब्स पर रख दिया और मेरी काफ़ी करीब में आ गयी। अब मैं उसके बूब्स को दबाने लगा था और उसके होंठो पर अपने होंठ रखकर उसके होंठो को चूसने लगा था। अब वो एकदम गर्म हो गयी थी। फिर उसने अपना एक हाथ से मेरी पैंट की चैन को खोलकर मेरे लंड को अपने हाथ में ले लिया और दबाने लगी, उफफफफ्फ़ अब हम दोनों को क्या मज़ा आ रहा था? उसके बूब्स बहुत सख्त थे और निपल्स गुलाबी कलर की थी। फिर मैंने उससे अपना लंड चुसवाया और चोदकर उसकी चूत का भोसड़ा बना दिया। दोस्तों आज भी वो मेरे लंड से खेलती है और अपनी चूत को चुदवाती है ।।