होटेल मे रंजीता की मस्त चुदाई Free sex Story

होटेल मे रंजीता की मस्त चुदाई – Free sex Story

बात अभी कुछ दीनो पहले की है, मेरे पास एक मैल आता है जो की उज्जैन से था, उसमे मेरे ही एक कहानी रीडर ने मुझसे लॅंड को बड़ाने की दवाई के बारे मे क्वीरी की थी, मैने उसकी क्वीरी को रिप्लाइ किया, उसका ईव्निंग मे म्स्ग आया की आपका लॅंड कितने लंबा है? ई रिप्लाइड हिं तट इट्स 8 इंच, हे रिप्लाइड मे वाइया मैल तट इफ़ कॅन योउ कम तो उज्जैन तो शो मे आउट तीस? इफ़ फाउंड प्रॉपर्ली आस टोल्ड बाइ योउ देन ई विल प्लेस मी ऑर्डर, यानी के वो मुझे उज्जैन मे ही मिलने को बुला रहा था और चाहता था की वो मेरा लॅंड देखेगा, अगर मेरा लॅंड 8 इंच का हुआ तो वो मुझे दवाई ब्नाने के लिए ऑर्डर ज़रूर करेगा, आक्च्युयली मुझे उसी दिन उज्जैन आपनी कार का काम करवाने के लिए भी जाना था, सो मैने उसको एस मे रिप्लाइ कर दिया, मैं सूभ लगभग 11 बजे तक उज्जैन पहुच गया, और आपनी कार का काम करवाने लगा, कार मे मेनटायिनन्स ज़्यादा था, सो, टाइम ज़्यादा लग गया, शाम ज़्यादा हो चुकी थी और मुझे लगभग 100 क्म्स लंबा ड्राइव करके जाना था, बीटी कार का काम अब भी कंप्लीट नही हुआ था, सो मैने आपने लिए होटल मे एक रूम बुक कर लिया, अब मैं होटेल के रूम मे था, सो मैने आपना लॅपटॉप निकाला और आपने उस रीडर को मैल किया की मैं उज्जैन मे हूँ और होटल मे रुका हुआ हूँ, अगर उसको मुझसे मिलना है तो वो आ सकता है, उसकी तरफ से मुझे रिप्लाइ आया और उसने रिप्लाइ मे मुझसे मेरा नंबर माँगा.

मैने भी उसको आपना नंबर रिप्लाइ मे प्रवाइड कर दिया, फिर लगभग ½ घंटे मे मेरे नंबर पर एक अननोन नंबर से कॉल आया, तभी लगभग 8 बाज चुके थे, मैने कॉल रिसीव किया तो मैं हैरान था, फोन पर किसी लेडी की वाय्स थी, मैने सोचा की किसी और का कॉल होगा, मैने रिप्लाइ किया-“एस,” शी “आपने अभी मैल मे रिप्लाइ करके आपना नंबर प्रवाइड किया था,” मैं “तो क्या वो आप थी? मगर मैल ईद तो किसी रंजीत के नाम से था,” वो बोली “मेरा नाम रंजीता है, वो तो मैने उ ही रंजीत के नाम से आना मैल ईद बनाया था, अभी आप कहा पर है?” मैं “मैं, होटेल मे रूम नंबर मे हूँ,” वो बोली “क्या आप मुझे रेलवे स्टेशन के बाहर पार्किंग मे मिल सकते हैं? मेरी वाइट कलर की इडिका कार है और उसका नुंबे, है,” मैं “शुवर, मैं अभी आता हूँ,” फिर मैं स्टेशन पर गया और उसके द्वारा ब्ताए हुए गाड़ी नंबर को सर्च करने लगा, पार्किंग के एग्ज़िट पर सेम नंबर की इडिका मुझे पार्क्ड मिली, उसके डोर्स क्लोस्ड थे और काँच भी चढ़े हुए थे और पार्किंग लाइट्स ओं थी, मैने कार के डोर ग्लास पर नॉक किया, जैसे ही डोर ग्लास डाउन हुआ तो मैं देखकर हैरान था, कार की ड्राइवर सीट पर एक बहुत ही खूबसूरत लड़की जिसकी आगे लगभग 19 होगी, वेरी फेर कलर एंड एक उनदेखा फिगर था उसका, बहुत ही खूबसूरत थी वो, नीली नीली सूरमे भारी आँखें और गुलाब की पंखुड़ियू से नाज़ुक हल्के लाल लाल होठ, उसने जीन्स एंड शर्ट पहाँा हुआ था, वो बोली “ही! स, के, यादव, हाउ अरे योउ?” मैं “नाइस! एंड योउ?” वो बोली “फाइन, थॅंक्स, जस्ट कम इन,” और उसने आपनी रियर सीट का डोर ओपन करते हुए मुझे बैठने को कहा, मैं भी जा कर बैठ गया, अब वो कार ड्राइव कर रही थी और मैं बगल मे ही उसकी फ्रंट सीट पर बैठ हुआ था, मैने कहा की हम कहा चल रहे है? तो उसने सिर्फ़ मुस्करत दिया और कार ड्राइव करती रही.

मैं भी चुपचाप बैठा रहा, फिर उसने ही खामोशी तोड़ते हुए कहा की-“मैने आपकी सभी स्टोरीस पढ़ी हैं, क्या वो सभी साची है? मैं “एस! एक दूं सचहचही हैं,” वो बोली “तो क्या तुमने उन सभी कहानियो मे जो हाल उन सभी लड़कियो का किया है! वो सब सच है?” मैं “हा,” वो बोली “तो क्या तुम हर बार सेक्स ऐसे ही करते हो?” मैं “नही, ये तो सामने वाले के ऊपर डेपन्द करता है की सामने वाली कैसे करवाना चाहती है,” वो बोली “ओके” मैं “क्या तुमने पहले कभी सेक्स किया है?” वो बोली “नो, अगर पहले कभी सेक्स किया होठा तो तुमसे बात शुरू करने के लिए दवा के बारे मे झूट बोल कर तुमसे बात-चीत का सिलसिला शुरु करकने की ज़रूरत ही क्यों पड़ती, मैं आक्च्युयली घबरा रही थी की मैल ईद फेक ना हो, एंड अगर मैं तुम्हे कभी अगर मिलने बूलौऊ तो त्म्हरे साथ कोई ओर ना हो,” मैं “डॉन’त वरी मेरे साथ सभी रिलेशन्स सेफ रहते है और प्राइवेट भी,” फिर उसने मेरे लॅंड की ओर नज़र घुमाई जो की पेंट मे टेंट ब्नाकर खड़ा था, उर आपने होठो पर एक हसी लाते हुए उसने कहा की लगता है कीट उम हमएसा ही रेडी रहते हो, मैने भी हेस्ट हुए कहा की वो अभी तक की सबसे खूबसूरत पारी को एक पाई पर खड़े होकर सलामी दे रहा है, और इस बात पर हम दोनो ही खुल कर हासणे लगे और उसने आपना हाथ गियर से हटा कर सीधा मेरे लॅंड पर पेंट के उपर से ही रख कर उसको पकड़ लिया और कहा की मुझे तुम्हारी तोआप की सलामी क़ुबूल है, और इतना कहकर उसने आपना हाथ मेरे लॅंड पर से टा लिया और वापस गियर के उपर रख लिया, मैने कहा की अगेर आपने पहले कभी सेक्स नही ईया तो आप इतना खुलकर बातें कैसे कर रही है/ तो उसने रिप्लाइ किया की मैं आपके सेक्स एक्सपीरियेन्स के बारे मे जानती हूँ और आपकी रीडर भी हूँ.

और अगर मैने आपको खुद इन्वाइट किया है और बहाने से ही सही अगर यहा तक बुलाया है तो ज़ाहिर सी बात है की यहा पर महाकाल के डर्शन के लिए तो बुलाया नही है, और फिर इधर उधर की बातो मे रखा ही क्या है, घबराने, शरसोतेली माँे और सती-सावित्री बॅंकर दिखाने मे क्या मज़ा है, आज मैं आपनी लाइफ इस एक रात को खुल कर जीना चाहती हूँ, मैने भी आपनी सीट से उठ कर उसके गालो पर एक पप्पी लेते हुए कहा की मुझे आपकी या बात काफ़ी एक्च्ची लगी, बुत एक बात और पूछना चाहता हूँ, उसने कहा की पूछिए ना! मैने कहा की आज की इस रात को कैसे जीना चाहती हो? आपने तरीके से या मेरी तरह? आयेज क्या हुआ? ये जानने के लिए पढ़ते रहिए देसी कहानी
होटेल मे रंजीता की मस्त चुदाई – Free sex Story