चूत का बुलावा

Antarvasnajokes Hindi sex stories Kamukta चूत का बुलावा Chut Ka Bulawa

हैलो फ्रेंड्स.. मेरा नाम नितिन है और मैं सीधा अपनी आज की स्टोरी पर आता हूँ.. मेरी उम्र साल 19 साल है और मैं एक बहुत ही सुंदर और अच्छा दिखने वाला लड़का हूँ और मुझे बड़ी उम्र वाली सभी औरते बहुत अच्छी लगती है. मेरे लंड का साईज़ 6.5 इंच है. दोस्तों यह घटना आज से तीन साल पहले की है, जब मेरे घर वालों ने मेरी पढ़ाई की चिंता करते हुए मेरी एक अच्छी सी जगह देखकर ट्यूशन लगा दी थी. फिर मैं पहले कुछ दिन तक वहां पर गया और सब कुछ ठीक था.. लेकिन कुछ दिन बाद वो सर जो मुझे पढाते थे.. वो मुझ पर बहुत गुस्सा करने लगे और वो मुझे बिल्कुल भी पसंद नहीं करते थे. तो एक दिन जब मेरा टेस्ट था और मैं पेपर के लिए कुछ भी पढ़ाई नहीं कर पाया था.. इसलिए मैं उस दिन ट्यूशन ही नहीं गया और सर के घर से थोड़ी दूर पर ही एक बाज़ार था. तो मैं वहीं पर घूम रहा था.

फिर मैं उसके अगले दिन भी ट्यूशन नहीं गया, तो सर ने मुझे कॉल किया. मैंने उन्हे कहा कि मैं आप से ट्यूशन नहीं लूँगा और मैंने ट्यूशन छोड़ दिया है.. लेकिन मैं अपने घर वालों को तो यह बात बता नहीं सकता था. तो मैं ट्यूशन के लिए अपने घर से ठीक उसी टाईम पर निकलता और उसी बाज़ार के आस पास घूमकर ट्यूशन का समय खत्म होने पर घर वापस आ जाता. जब महीना ख़त्म होता, तो ट्यूशन की फिस भी अपने ही पास रख लेता था. फिर मुझे यह सब करने में बहुत मज़ा आने लगा था. मैं एक दिन घर में ब्लू फिल्म देख रहा था और तभी अम्मा रूम में घुस गई.. मैंने कंप्यूटर बंद कर दिया और वो कुछ भी देख नहीं सकी. अम्मा ने कहा कि तेरा ट्यूशन है कब जाएगा?.. तो मैं कपड़े पहन कर घर से निकल गया और बीच में पास ही में रुककर लड़कियां देखने लगा. मैं सोच रहा था कि जो मिल जाएँ उसे ही चोद दूँगा और फिर बाज़ार में घूमने लगा. एक सब्जी की दुकान पर एक आंटी को देखा बिल्कुल हॉट उम्र ज्यादा थी.. लेकिन पूरी रांड लग रही थी. उसने एक ढीली सी साड़ी पहन रखी थी.

तो मैं उसके पास गया और नीबू का दाम पूछने के बहाने उसे छूने लगा.. लेकिन वो मुझे बड़े अजीब ढंग से देख रही थी.. तो मैंने हाथ हटा लिया. फिर वो वहां से चली गयी. मैं उसका पीछा करने लगा. तभी थोड़ी देर के बाद भीड़ के कारण वो कहीं दूर चली गयी और मैं उसे देख नहीं पाया. फिर अगले दिन भी मैं वहां पर गया.. लेकिन वो मुझे पूरे बाज़ार में कहीं पर भी नहीं दिखी तो मैं बहुत उदास होकर घर पर आ गया और उसके बारे में सोचने लगा. फिर तीन दिन बाद, वही आंटी उसी सब्जी की दुकान पर खड़ी होकर इधर उधर देख रही थी.. मैं बहुत खुश होकर वहां पर गया और सब्जी वाले को कहा कि कद्दू कितने का है? तो वो हंसने लगी और वहां से जाने लगी. तो मैं भी उसके पीछे पीछे जाने लगा.. लेकिन वो थोड़ा थोड़ा पीछे मुड़ मुड़कर मुझे देख रही थी. मैं भी उसके पीछे चला जा रहा था. उसकी गांड को देखकर सोच रहा था कि काश यह मुझे मिल जाएँ. तभी थोड़ी देर के बाद वो बाज़ार से निकल गयी और मैं भी निकल गया.

फिर वो ऑटो रिक्शा स्टॅंड के पास खड़ी होकर मुझे देखने लग गई.. मैं भी वहीं पर चला गया और थोड़ी देर में वो ऑटो रिक्शा पर बैठकर जाने लगी. तो मैं भी अपनी साईकल लेकर उनका पीछा करने लगा और थोड़ी दूर जाने के बाद वो एक तालाब के पास उतार गयी. मैं भी उसका पीछा करके वहीं पर पहुंच गया.. उस समय शाम का टाईम था तो वहां पर बाहर ज्यादा लोग नहीं थे. फिर मैं उनके सामने गया तो वो बोली कि तू मेरे पीछे पीछे क्यों आ रहा है? तो मैंने कहा कि ऐसे ही मेरी मर्ज़ी.. फिर वो आगे जाने लगी और मैं वहीं पर रुककर उन्हें देखने लगा.. तभी एक गली में मुड़ते समय उन्होंने मुझे इशारा करके बुलाया. तो मैं जल्दी से वहां पर गया तो वो बोली कि क्या मेरे घर तक यह समान ले चलोगे? तो मैंने हाँ कर दी और अपनी साईकल पर उनका सामान रखकर उनके घर पहुंच गया. फिर मैंने साईकल से सामान उतारकर दरवाजे पर रख दिया था. तो उन्होंने मुझे अंदर बुलाया और मैं अंदर चला गया.. फिर उन्होंने मुझे किचन से पीने का पानी लाकर दिया और कहा कि बैठ जाओ. तो मैं वहीं पर बैठकर पानी पी रहा था और वो कपड़े बदलने चली गयी.. मैं उस टाईम कुछ ग़लत नहीं सोच रहा था.

तभी थोड़ी देर के बाद वो एक बिना बाह की मेक्सी पहनकर आई और उन्हे देखकर मेरा लंड एकदम से खड़ा हो गया और उसी टाईम वो मुझसे बात करने लगी.. फिर मैंने उनसे पूछा कि उनके साथ और कौन रहता है. तो वो बोली कि उनके पति कुछ समय पहले एक बीमारी से मर चुके है और उनका कोई बच्चा भी नहीं है, इसलिए वो घर पर अकेली ही रहती है. तो मुझे यह सब सुनकर बहुत अजीब सा लगा और मैंने उनसे पूछा कि आपका कोई बच्चा क्यों नहीं है? तो वो बहुत दुखी होकर बोली कि ऐसे ही.. अब मेरा लंड कुछ ज्यादा ही खड़ा हो चुका था. वो उन्हे साफ साफ दिख रहा था. फिर वो बोली कि तुम मेरा पीछा क्यों कर रहे थे? तो मैं थोड़ा हिचकिचा कर बोला कि ऐसे ही आप मुझे अच्छी लगी. वो बोली कि हाँ जवानी में ऐसा ही होता है.. तो मैं शरमा गया. तो वो बोली कि तुम्हारी जीन्स में क्या हुआ है? फिर मैंने कहा कि कुछ नहीं.. तो वो बोली कि जाकर टॉयलेट करके आ जाओ. मुझे समझ आ गया कि उन्हे मेरा तना हुआ लंड बिल्कुल साफ साफ दिख रहा है.

तो मैं टॉयलेट में गया और मुठ मारने लगा और मेरा इतना सारा वीर्य कभी भी नहीं निकला था, जो आज पहली बार निकला था. फिर मैंने लंड को धोया नहीं और वैसे ही बाहर आ गया. तो वो मेरी अंडरवियर में पूरा लगा हुआ था और उसके कारण उसकी महक आ रही थी. फिर मैं आंटी के साईड में जाकर बैठ गया.. वो बोली कि क्यों तुम्हे टॉयलेट करने में इतना टाईम कैसे लग गया? तो मैंने कहा कि ऐसे ही.. फिर उन्हे शायद वीर्य की महक आ गयी थी. उन्होंने कहा कि यह महक कहाँ से आ रही है? तो मैंने कहा कि पता नहीं.. फिर वो बोली कि शायद तुम्हारी पेंट से आ रही है इसे उतारो. तो मैं बहुत डर गया और बोला कि नहीं.. वहां पर कुछ नहीं है. तभी वो गुस्से में बोली कि उतारो जल्दी से. मैं बहुत डर गया और मैंने पेंट को उतार दिया. फिर वो अंडरवियर सूंघकर बोली कि यह तो कुछ और ही है. तो मैंने कहा कि क्या? वो बोली कि मेरे साथ आओ. मैं डर गया कि कहीं किसी को बता ना दे और वो मुझे बाथरूम में ले गयी और बोली कि इसे भी उतारो. मैं डरकर बोला कि नहीं.. तो वो बहुत गुस्से से बोली कि उतार जल्दी.

मैंने डरते डरते अंडरवियर को उतार दिया. तभी वो मेरा लंड देखकर बहुत चकित हो गयी और बोली कि इतना बड़ा कैसे? तो मैंने कहा कि वो शुरू से ऐसा ही है. फिर वो लंड को हाथ में लेकर हिलाने लगी और मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.. वो बोली कि मेरे पति का तो बहुत छोटा था. इसलिए मुझे कभी मज़ा नहीं मिला. तो मैंने कहा कि आपको मेरा वाला पूरा मज़ा देगा.. वो हंसने लगी और लंड को मुहं में लेकर चूसने लगी. अब मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था और वो बहुत अच्छी तरह से लंड को आगे पीछे करके चूस रही थी. फिर थोड़ी देर के बाद मेरा बहुत सारा वीर्य निकल गया और लंड मुरझाकर छोटा हो गया. तो वो मुझे बेडरूम में ले गयी और उसने मेरी टी-शर्ट को उतार दिया और फिर किस करना स्टार्ट कर दिया.. हमने 5 मिनट तक किस किया और उसके बाद मैंने उनकी मेक्सी को उतार दिया. फिर मैंने देखा कि उन्होंने पेंटी नहीं पहनी थी और उनकी चूत पर बहुत बाल थे. मैं उनके पास गया और ब्रा का हुक भी खोल दिया. उनके 42 साईज के बूब्स बाहर आ गये. तो मैं सीधे वाले बूब्स को दबाने लगा और दूसरे वाले बूब्स को ज़ोर ज़ोर से चूस रहा था. वो आह्ह्ह उफ्फ्फ अया कर रही थी और अपनी चूत पर हाथ घुमा रही थी.

मैंने करीब 30 मिनट तक उनके दोनों बूब्स चूसे और उसके बाद उनकी चूत के बाल थोड़े साईड किए और गुलाबी रंग की चूत में जैसे ही मैंने मुहं लगाया, वो उछल गयी और में अपना मुहं चूत के पास ले जाकर जीभ को आगे पीछे करके चूसने लगा. तभी थोड़ी देर बाद उनका नमकीन पानी आ गया और मैं सारा पानी बड़े मजे से चूस चूसकर पी गया और मैंने फिर से उसे अपना लंड चूसने को कहा और फिर वो मेरे लंड को बड़े मजे से चूसने लगी. तभी थोड़ी देर के बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया.. तो वो बोली कि मैं पिछले 10 साल से नहीं चुदी हूँ.. अब आज तू मुझे अच्छे से चोद दे. तो मैं लंड को चूत के छेद पर ले गया और एक ज़ोर से धक्का दिया.. वो चिल्ला उठी आहह रुक जा कुत्ते, धीरे से डाल. 10 साल बाद आज मेरी चूत में तेरा लंड जा रहा है. तब मेरा एक इंच लंड भी अंदर नहीं गया था, तो में रुक गया और उनके बूब्स को दबाने लगा और जब वो थोड़ा शांत हुई, तो एक और ज़ोर का धक्का दिया.. लेकिन इस बार तीन इंच लंड अंदर चला गया और उनकी बहुत ज़ोर से चीख निकल गयी उफ्फ्फ उउउइईईईई माँ फट गयी मेरी चूत.

तो मैं धीरे धीरे लंड और डालने लगा और उसके बूब्स को सहलाने लगा. वो रो रही थी.. लेकिन मैं रुका नहीं और मैं लंड अंदर बाहर करने लगा 5 मिनट बाद वो शांत हुई और मेरे धक्के की स्पीड ज्यादा हो गयी. उन्हे भी मज़ा आने लगा और वो आह आहा आअहह करने लगी और पूरे रूम में छप छप की आवाजे आने लगी और 40 मिनट तक बिना रुके चोदने के बाद मैं झड़ गया. फिर इस चुदाई के बीच में आंटी तो चार बार झड़ चुकी थी और उनका पूरा शरीर ढीला पड़ चुका था.. मैंने लास्ट के 10 धक्के इतनी ज़ोर से दिए कि पूरा बेड हिलने लगा. फिर मैंने सारा वीर्य अंदर ही छोड़ दिया और वहीं पर लेट गया. फिर हम दोनों उठे और एक साथ नहाए..

फिर वो बोली कि उन्हे आज बहुत मज़ा आया और चुदाई का असली सुख आज मिला है. मैं लेट हो रहा था तो मैंने कहा कि मैं घर जा रहा हूँ.. उन्होंने अपना नाम भारती बताया और अपना मोबाईल नंबर मुझे दिया फिर मैंने उन्हे एक किस किया और कपड़े पहनकर घर आ गया. उसके बाद हमने बहुत बार चुदाई की.. जब भी मेरा दिल करता तो मैं उनके घर पर चुदाई करने पहुंच जाया करता और उनकी चूत के साथ साथ उनकी गांड भी मारता और वो बड़े मजे से मुझसे चुदवाती. कई बार तो मैंने अपने घर पर झूठ बोलकर उनके घर पूरी रात भी गुजारी और चुदाई का बहुत मज़ा लिया ..