करने दो ना भाभी

दोस्तो मैं आपका सब का चहेता 007 फिर अपनी कहानी लेकर हाजिर हूँ चुनमुनियाडॉटकॉम के सभी पाठकों को मेरा प्यार भरा नमस्कार Hindi Sex Stories Antarvasna Kamukta Sex Kahani Indian Sex Chudai दोस्तो इस साइट पर ये मेरी तीसरी कहानी है .
दोस्तो हुआ कुछ यूँ कि मैं रात को छत पर सोया था और सुबह देर से जगा था . जब मैं नीचे आया तो घर मे कोई नही था मैं हॉल मे बैठा बैठा सोच रहा था कि घरवाले कहाँ जा सकते है तभी अनिता भाभी आ गयी कसम से गहरी नीली साड़ी मे क्या लग रही थी मैं तो उनके रूप का दीवाना था ही भाभी आकर मेरे पास बैठ गयी और बोली उठ गये मैने कहा जी

मैने कहा भाभी घरवाले कहाँ है तो वो बोली कि बाजार गये है काकी कहके गयी थी कि तुम्हारे लिए नाश्ता बना दूं मैने कहा क्या आप भी फॉरमॅलिटी करती रहती हो जो कुछ पड़ा है वो ही खा लूँगा पहले भी कहा कुछ स्पेशल बनता था मेरे लिए तो भाभी मेरे गालो को खीचते हुए बोली मेरे प्यारे देवर अब तुम अफ़सर आदमी हो गये हो तो तुम्हारा ख़याल रखना तो बनता है ना मैने कहा अफ़सर हो गया तो क्या हुआ दिल तो अपना आज भी आपके लिए ही धड़कता है ना

भाभी मुस्कुराइ और बोली जल्दी से बताओ क्या बनाऊ तुम्हारे लिए फिर मुझे लकड़ी काटने भी जाना है मैने कहा भाभी कुछ भी बना दो और अब कहाँ लकड़ी काटने जाओगी जंगल बचा ही कहाँ है तो वो बोली कि अरे तुम्हे नही पता क्या तुम्हारे भाई ने रोड के पर्ली तरफ एक नया प्लॉट ले लिया है उसी मे काफ़ी पेड़ लगे हुए है तो उधर से ही ईंधन ले आते है मैने कहा वाह भाभी नया प्लॉट ले लिया इस बात पे तो पार्टी बन नी चाहिए भाभी बोली जिसने प्लॉट लिया है उस से लो पार्टी मैने कहा रवि तो मस्त काम कर रहा है आजकल

तो वो बोली हाँ काम अच्छा चल रहा है मैने कहा भाबी मैं भी चलूं तुम्हारे साथ तो वो बोली चलो पर पहले खाना खा लो भाभी रसोई मे चली गयी तो मैं भी उनके पीछे-पीछे चला गया भाभी स्लॅब के पास खड़ी होकर दूध गरम कर रही थी मैं जाकर उनके पीछे खड़ा हो गया और उनकी चूचियो को दबाने लगा भाभी कसमसाती हुई बोली अहह क्या करते हो छोड़ो मुझे मैने कहा करने दो ना भाभी कितने दिनो बाद तो हमें अकेले रहने का मोका मिला है

भाभी मचलते हुए बोली पर अभी मुझे बड़ा काम है मैने कहा काम तो होता ही रहेगा मेरी जान पर मुझ ग़रीब पर भी तो अपने प्यार की थोड़ी बारिश कर दो ना देखो मेरा लंड तुम्हारी चूत मे जाने को कितना बेकरार है भाभी अपनी मस्त गान्ड को मेरे लंड पर रगड़ते हुए बोली अब तुम मनोगे तो नही ना चलो आओ तुम्हारी इच्छा पूरी कर देती हू मैने भाभी को अपनी गोद मे उठाया और बेडरूम मे ले आया और भाभी को दीवार के सहारे लगा कर के किस करने लगा

आज काफ़ी दिनो बाद मोका मिला था भाभी के करीब आने को भाभी मेरी पॅंट के उपर से ही मेरे लंड को सहलाने लगी और मैं उनको चूमे जा रहा था भाबी के रसीले होंठो से जैसे शहद टपक रहा था कुछ देर की चूमा चाटी के बाद भाभी नीचे बैठ गयी और मेरी पॅंट को खोल कर घुटनो से नीचे सरका दिया और मेरे लंड को अपने हाथो से सहलाने लगी फिर वो अपने मुँह को लंड के पास ले गयी और उसको अपने मुँह मे दबा लिया

जैसे ही उन्होने अपनी खुरदरी जीभ को लंड पर फिराया मेरा तो पूरा बदन ही हिल गया भाभी अपने हाथ से मेरी गोलियो को मसल्ते हुए लंड को चूस रही थी मैं उनके बालो मे हाथ फिराते हुए बोला शाबाश मेरी जान बस ऐसे ही करो बड़ा अच्छा लग रहा है धीरे-धीरे उन्होने पूरे लंड को अपने गले तक उतार लिया और मज़े से किसी आइस-क्रीम की तरह उसको चूसने लगी

5-7 मिनिट तक अच्छे से वो चूस्ति रही फिर वो खड़ी हुई उनकी आँखों मे मैं चुदाई की खुमारी सॉफ सॉफ देख पा रहा था मैने उनके ब्लाउज को उतार कर फेक दिया ब्लॅक ब्रा मे उनकी गोरी गोरी चूचिया किसी कयामत से कम नही लग रही थी कुछ ही पलों बाद ब्रा भी ज़मीन पर गिरी पड़ी थी और उनके मस्त उभार मेरे हाथो मे थे भाभी हल्की हल्की सिसकारिया निकालने लगी थी

मैं बारी बारी से उनकी दोनो चूचियो को दबातें हुए चूसने लगा भाभी ने अपनी साड़ी और पेटिकोट को उतार दिया ठोस जाँघो के बीच एक कसी हुई पेंटी मे वो बहुत ही कामुक लग रही थी मैने जल्दी से खुद को नंगा किया और भाभी को बेड पर लिटा दिया मैने उनकी टाँगो को फैला दिया और कच्छि को बदन से अलग कर दिया उफ्फ क्या मस्त नज़ारा था उनकी दोनो टाँगो के बीच का .

भाभी शरमाते हुए बोली ऐसे क्या देख रहे हो पहले कभी देखा नही है क्या मैने कहा भाभी आप पहले से भी ज़्यादा मस्त हो गयी हो मैने उनकी टाँगो को थोड़ा फैलाया और उनके बीच आ गया और चूत को देखने लगा मैने चूत की दोनो पंखुड़ियो को फैलाया और चूत को देखने लगा गाढ़े रस से भरी चूत बड़ी ही मस्त लग रही थी उसकी गुलाबी पंखुड़िया मुझे उनको चूमने का निमंत्रण दे रही थी

मैं अपनी उंगली भाभी की चूत पर फिराने लगा तो मस्ती से उनकी आँखे बंद हो गयी और उनके होठ काँपने लगे मैने अपना मुँह चूत पर लगा दिया तो भाभी का बदन हिचकोले खाने लगा ये वो चूत थी जिसे मैने पहली बार चूमा था जिसने मुझे मर्द होने का एहसास करवाया था मेरे लिए हमेशा स्पेशल थी ये भाभी का खारा पानी मुँह मे जाते हुए मुझे जोश चढ़ गया और मैं उनकी चूत को अच्छे से चाटने लगा

भाभी ने अपनी टाँगे उपर कर ली और मेरे सर को अपनी चूत पर दबाने लगी उनकी सिसकारिया सारे कमरे मे गूँज रही थी मैं भाभी की चूत के रस की बूँद-बूँद को पिए जा रहा था थोड़ी देर बाद भाभी बोली अब कर भी लो जल्दी से फिर प्लॉट मे भी चलना है तो मैने कहा जल्दी क्यो करती हो ज़रा आपको जी भर के प्यार तो कर लूँ फिर चॅलेंज

मैने उनको सरका कर बेड के किनारे पर कर दिया और उनकी मस्त गुलाबी चूत पर लंड को रख दिया भाभी मेरी ओर देख कर मुस्कुराइ और मैने सुपाडे को चूत के छेद मे घुसा दिया भाभी ने हल्की सी आह ली और फिर धीरे-धीरे लंड उस गरम चूत मे आगे बढ़ने लगा मैने भाभी की मांसल जाँघो को मजबूती से थाम लिया और चूत पर धक्के लगाने लगा भाभी आह आह करते हुए चुदने लगी

अब मैने भाभी को घुटनो के बल कर दिया और उनके पीछे आ गया भाभी ने अपनी चुतड़ों को अच्छे से खो दिया मेरे लिए मैने उनकी कमर को सहलाया और फिर अपने लंड को चूत से सटा दिया जैसे ही लंड अंदर गया वो थोड़ा सा आगे को झुक गयी मैने उनको अपनी बाहों मे जकड़ा और धक्के लगा ने लगा आआआआआआआआआआआआआआआआआआआआआआ हह उूुुुुुुुुउउइईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईई उूुुुुुुुुुुुुुुुुुुुुुुुुउउइईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईई आस्स्स्स्स्स्शहह करते हुए भाभी चुदाई का पूरा मज़ा ले रही थी मैं उनके कुल्हो पर थप्पड़ मारते हुए उनकी चूत का मज़ा ले रहा था

उनके कंधो पर हाथ रखे मैं दबा दब उन्हे चोदे जा रहा था भाभी की गरमा गरम सिसकारिया मुझे और भी उत्तेजित करने लगी थी फिर भाभी थोड़ी आगे को सरक गयी तो लंड बाहर निकल आया मैने कहा क्या हुआ तो वो बोली एक मिनिट रूको भाभी बेड से नीचे उतरी और अपना एक पैर बेड पर टिका कर अपनी पीठ मेरी ओर करके खड़ी हो गयी और बोली अब डालो अंदर तो मैने उनकी कमर को थाम लिया और फिर से हमारा चुदाई कार्यक्रम शुरू हो गया

वासना की तो आज पराकाष्ठा ही हो गयी थी मैं और भाभी पूरी तरह से सेक्स के मज़े के समुंदर मे डूब गये थे मैं भाभी को चूमते हुए बोला ओह डार्लिंग तुम सच मे कमाल हो भाभी भी अपनी गान्ड को पीछे करके पूरा मज़ा ले रही थी भाभी की साँसे अब भारी हो चली थी पर जोश बरकरार था भाभी बोली अब तुम तेज तेज धक्के लगाओ मेरा पुर्जा पुर्जा हिला कर रख दो जब से तुम आए हो तड़प रही हू तुम्हारे साथ सेक्स करने को आज मोका लगा है मुझे निचोड़ दो

फिर भाभी बोली आज मैं तुमको उपर चढ़ कर चोदुन्गि मैनी कहा जो आपकी मर्ज़ी तो भाभी मेरी गोद मे चढ़ आई और लंड को अपनी चूत पर टिका कर उस पर बैठ गयी और उछलने लगी सच मे काफ़ी दिनो बाद ऐसी हार्डकोर चुदाई का मोका मिला था अनिता का ये ही था या तो देगी नही और देगी तो फिर नस-नस को मस्ती मे डूबा देगी मैं भाभी की गान्ड को सहलाने लगा और वो धाप-धप लंड पर कूदे जा रही थी

कुछ देर उन्होने गजब किया लंड पर बैठे बैठे ही वो घूम गयी इस तरह से उनकी पीठ मेरी तरफ हो गयी और वो बोली मैं अब जाने ही वाली हूँ तो वो पूरा दम लगाते हुए अपनी गान्ड को मटका कर मज़ा लेने लगी5 मिनिट तक वो ऐसे ही करती रही फिर वो किसी शराबी की भाँति मेरी बाहों मे झूल गयी और हाँफने लगी मैं समझ गया कि भाभी का काम हो गया है तो मैने उनको लिटाया और तेज़ी से उनको चोदने लगा और कुछ देर बाद मैं भी झड़ने के करीब आया तो मैने लंड को बाहर निकाला और उनके मुँह पर अपने वीर्य की धार मारने लगा

फिर मैं और भाभी दोनो थोड़ी देर बेड पर पड़े रहे जब साँसे दुरुस्त हुई तो भाभी अपने कपड़े पहन ने लगी मैने कहा भाभी अभी इधर ही रूको ना एक बार और करते है तो भाभी बोली तुम्हारी तरह फ्री नही हू काम नही करूँगी तो सासू माँ खाल खाएँगी . फिर भाभी और मैने कपड़े पहन लिए दोस्तो इस तरह मेरा जब भी मान होता है भाभी के साथ मज़े कर लेता हूँ दोस्तो आपको मेरी ये कहानी कैसी लगी ज़रूर बताना